विज्ञापन

रायपुर|राजधानी में स्थित विदेशी शराब दुकानों में मदिरा पीने के शौकिन अपनी पसंद की ही चुनिंदा ब्रांड के आदि होते है और उसी की मांग भी करते है । कोशिश रहती है कि मदिरा प्रेमियों को उनकी पसंद की शराब उपलब्ध कराई जाए । यह बात भी सामने आ रही है कि चुनिदा शराब की मांग अधिक होने से ऐसे शराब की खपत अधिक होने पर अन्य ब्रांडेड की शराब की बिक्री नहीं हो पा रही है और शराब जाम हो जा रहा है । विभाग की मंशा है कि सभी ब्रांड की शराब की खपत हो ,और शहर के दुकानों में शराब की खपत एक सामान हो ,लेकिन इसके विपरित कुछ ब्रांड के शराबों की मांग लोगों में ज्यादा है । बताया जा रहा है सिंबा ब्रांड की बियर की मांग प्रदेश के बाहर भी है ।

शराब जाम होने से उसकी समाप्ति तिथि का रहता है डर

चुनिंदा ब्रांड की शराब की खपत अधिक होने से अन्य ब्रांड की शराबों की समाप्ति तिथि बीत जाने के बाद शराब खराब हो जाती है इससे काफी नुकसान होने का खतरा बन जाता है ।इसलिए विभाग की मंशा है कि सभी ब्रांड की खपत सामान मात्रा हो।

कुछ चुनिंदा ब्रांड के शराब मदिरा प्रेमियों को नहीं मिल रहे है । होली का पर्र्व जैसे -जैसे नजदीक आ रहा है शराब दुकानों में शराब की खपत भी बढ़ गई है । शहर में शराब के लगभग 122 ब्रांड है जिसमें से लगभग 100 ब्रांडेड की शराब विदेशी शराब दुकान में असानी से मिल रही है । शहर में नंबर वन , सिंबा जैसे ब्रांड की शराब एक- दो दुकानों में ही मिल रही है।बाकी अन्य दुकानों में उपलब्ध ही नहीं है । मांग अधिक होने के कारण इसकी खपत अधिक है । शहर के मदिरा दुकानों में सबसे अधिक बिकने वाली शराबों में नंबर वन , सिमरन ,आई बी, आर एस , एसी नीड,सिंबा है । लेकिन सिंबा,नंबर वन ब्रांड की शराब दुकानों में उपलब्धता की कमी के चलते मदिरा प्रेमियों को नहीं मिल पा रही है ।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here