विज्ञापन

रायबरेली।बारात लड़की के घर आ चुकी थी।सजी-संवरी दुल्हन सात फेरों के बंधन में बंधन में बंधने वाली थी।जयमाला से पहले वर-वधू पक्ष के लोग स्टेज पर जुट चुके थे।दूल्हा-दुल्हन ने एक-दूसरे को जयमाला पहनाई और लोग जश्न में मशगूल थे।तभी कुछ ऐसा हुआ कि हड़कंप मच गया।गोली की एक आवाज से जश्न और उल्लास का माहौल पलक झपकते ही मातम के मंजर में तब्दील हो गया।घटना उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले की है।यहां बछरांवा थाना क्षेत्र के गजियापुर गांव के रहने वाले पुत्तीलाल की बेटी आशा की शादी की तैयारियां की जा रही थीं।बारात उन्नाव जिले के आगापुर गांव से आई थी।इस गांव के अनिल से आशा की शादी हो रही थी।परिवार के लोग काफी खुश थे लेकिन अचानक शादी समारोह के दौरान जयमाला पड़ने के बाद गांव का ही बृजेंद्र नाम का शख्स दुनाली बंदूक लेकर पहुंचा और ताबड़तोड़ दुल्हन पर दो फायर झोंक दिए।दुल्हन की स्टेज पर ही मौत हो गई।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here