विज्ञापन

रायपुर|नवीन शिक्षाकर्मी संघ छ.ग.प्रदेश के अध्यक्ष विकास सिंह राजपूत ने कहा कि-राज्य मंत्रिमंडल के केबिनेट बैठक मे निर्णय के बाद स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा नया राजपत्र प्रकाशित कर लिया गया है,जिसमे नया भर्ती,पदोन्नति,क्रमोन्नति,स्थान्तरण नियम का प्रावधान शिक्षक(ई.टी.व एल.बी.संवर्ग) के सम्बन्ध मे किया गया है और बहु प्रतीक्षित राजपत्र के प्रकाशन के बाद भविष्य मे स्कूलो मे नया भर्ती शिक्षाकर्मी के स्थान पर शिक्षक के पद पर किया जायेगा|जिसका नवीन शिक्षाकर्मी संघ ने राज्य केबिनेट मे लिए गये निर्णय का स्वागत करते हुए स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा शिक्षक भर्ती के पहले 48000 हजार शिक्षाकर्मियों का स्कूल शिक्षा विभाग मे संविलियन करने व पंचायत विभाग से प्रथम नियुक्ति गणना करते हुए,एक ही पद पर 10 वर्ष पूर्ण करने पर संविलियन हुए शिक्षक एलबी संवर्ग को क्रमोन्नति की मांग राज्य के मुख्यमंत्री से किया है|साथ ही समय पर प्रदेश के शिक्षाकर्मियों को वेतन नही मिलना शासन-प्रशासन की कमजोरी है|जो लगातार 20 वर्षो से शिक्षाकर्मियों के लिए परेशानियों का सबब बना हुआ है|वेतन समस्या से शिक्षाकर्मियों छुटकारा मिलने का एकमात्र उपाय वर्ष बन्धन समाप्त कर समस्त शिक्षाकर्मियों का स्कूल शिक्षा विभाग मे संविलियन करना ही है|जब तक शिक्षाकर्मी शब्द जुड़ा रहेगा तब तक समय पर वेतन भुगतान करना व स्कूलो मे शिक्षाकर्मी के स्थान पर शिक्षक भर्ती करना मुश्किल लग रहा है और सबका संविलियन नही कर शिक्षाकर्मियों के अधिकार को छीनकर नवीन भर्ती का हर स्तर पर व्यापक विरोध किया जायेगा क्योकि एक तरफ नवीन भर्ती के माध्यम से शिक्षक बनकर प्रारम्भ से ही शासकीय कर्मचारियो के अनुसार वेतन भत्ते व सेवा शर्तो का लाभ प्राप्त कर लेगा|वही पर पंचायत विभाग मे शिक्षाकर्मी के पद पर आठ साल पूर्ण होने तक बहुत ही कम वेतन मे कार्य करने पर प्रदेश के शिक्षाकर्मी मजबूर रहेंगे|

शासन-प्रशासन चाहते है कि-प्रदेश के शिक्षाकर्मी व शिक्षक सड़क पर उतरकर विरोध प्रदर्शन न करे करे तो शिक्षक भर्ती के पहले आठ वर्ष का बन्धन समाप्त कर समस्त शिक्षाकर्मियों का संविलियन व दस वर्ष पूर्ण कर चुके संविलियन हुए शिक्षको को क्रमोन्नति वेतनमान प्रदान करने का निर्णय ले|जिससे प्रदेश के समस्त शिक्षक संवर्ग पूरी ऊर्जा व उत्साह के साथ स्कूलो मे बच्चो को शिक्षा प्रदान कर सके साथ ही 3500 अनुकम्पा नियुक्ति की राह देख रहे दिवंगत शिक्षाकर्मियों के परिजनों को भी राहत प्रदान करते हुए शासकीय पदो पर अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान करने का निवेदन राज्य मंत्रिमंडल से किया है|विकास सिंह राजपूत ने कहा कि-नवीन शिक्षाकर्मी संघ को उम्मीद है की प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा इस सम्बन्ध में जल्द ही विचार कर सभी शिक्षाकर्मियों का संविलियन व क्रमोन्नति वेतनमान पर निर्णय ले लिया जायेगा|जिससे जन घोषणापत्र मे शिक्षाकर्मियों से किये गये वादों को पूरा कर सकते है|नवीन शिक्षाकर्मी संघ प्रतिनिधि मण्डल जल्दी ही राज्य मन्त्रिमण्डल के सदस्यो व सम्बन्धित उच्च अधिकारियो से मुलाकात कर शिक्षक भर्ती प्रक्रिया के पहले आठ वर्ष का बन्धन समाप्त कर समस्त शिक्षाकर्मियों का स्कूल शिक्षा विभाग मे संविलियन की मांग को प्रमुखता से रखा जायेगा|

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here