विज्ञापन

नई दिल्ली|भारत द्वारा पुलवामा हमले के बाद आतंकियों पर कार्रवाई करते हुए बालाकोट स्थित आतंकी ठिकानों पर हवाई हमला किया गया।इस हमले के अगले दिन यानी 27 फरवरी को पाकिस्तान ने भारत के सैन्य ठिकानों पर हमला कर दिया।इसके लिए पाकिस्तान ने लड़ाकू विमान एफ-16 का इस्तेमाल किया।जिस एफ-16 को पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ इस्तेमाल किया,अब वही उसके लिए मुसीबत बनने वाला है।अमेरिका ने भारतीय रिपोर्ट्स का हवाला देते हुए इसपर पाकिस्तान से जवाब भी मांगा है। ऐसा इसलिए क्योंकि पाकिस्तान को अमेरिका ने विमान इसी शर्त पर दिए थे कि-वह इनका इस्तेमाल आतंकवाद के खात्मे के लिए ही करेगा।अमेरिकी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कोन फॉकनर ने कहा-हमारे पास इस बारे कुछ रिपोर्ट हैं,और इसे लेकर कुछ और तथ्य जुटाए जा रहे हैं।इसके बाद ही कोई कार्रवाई की जाएगी।ये लड़ाकू विमान अमेरिका ने 80 के दशक में कुछ शर्तों पर पाकिस्तान को दिए थे।इसमें सबसे जरूरी बात ये थी कि-इसका इस्तेमाल पाकिस्तान किसी देश पर हमला करने के लिए नहीं करेगा। इसका उपयोग वो केवल अपने बचाव या सुरक्षा के लिहाज से कर सकता है।इसके साथ ही वैश्विक आतंकवाद के खात्मे के लिए इन विमानों का उपयोग किया जा सकता है।
क्या बोला पाकिस्तान?
पाकिस्तान ने भारत के आरोपों के खारिज करते हुए कहा कि-उसने एफ-16 नहीं बल्कि जेएफ-17 लड़ाकू विमान का इस्तेमाल किया था।यह विमान पाकिस्तान और चीन ने मिलकर तैयार किया है।अब अमेरिका ने कहा है कि-वह इससे जुड़ी सभी रिपोर्ट्स पर ध्यान दे रहा है,और इसके इस्तेमाल को लेकर भी चौंकन्ना है।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here