विज्ञापन

रायपुर|छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन ने पूर्व मंत्री स्वर्गीय महेंद्र कर्मा के बेटे आशीष कर्मा की डिप्टी कलेक्टर की नियुक्ति का स्वागत किय साथ ही प्रदेशभर के 3500 दिवंगत शिक्षाकर्मियों के परिजनों को योग्यतानुसार तत्काल निःशर्त अनुकम्पा नियुक्ति देने की मांग की है।फेडरेशन के प्रांतीय संयोजक जाकेश साहू ने कहा कि-विगत 2010 से प्रदेश के विभिन्न जिलों और ब्लॉकों के स्कूलों में कार्यरत 3500 दिवंगत शिक्षाकर्मियों के परिजनों को आज तक अनुकम्पा नियुक्ति नहीं मिल पाई है,जिसके कारण उनके परिजन रोजी-रोटी की तलाश में दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं।फेडरेशन के प्रांतीय संयोजक शिव सारथी,रंजीत बनर्जी,मनीष मिश्रा,छोटेलाल साहू ने कहा है कि-दिवंगत शिक्षाकर्मियों के परिजनों को सरकार तत्काल अनुकम्पा नियुक्ति देने का आदेश जारी करे।प्रदेश संयोजक जाकेश साहू ने बताया कि-2011-१३ तक शिक्षाकर्मियों के परिजनों को अनुकम्पा नियुक्ति दी जा रही थी,लेकिन बीच में तत्कालिन सरकार ने ऐसे-ऐसे जटिल और कठिन नियम कानून बनाए कि-अनुकम्पा नियुक्ति का सारा प्रकरण बेवजह उलझ कर रह गया।फेडरेशन ने मांग की है कि-भूपेश बघेल सरकार ने जिस प्रकार पूर्व मंत्री महेंद्र कर्मा के परिजनों के प्रति संवेदना दिखाई है,वैसे ही प्रदेश के दिवंगत शिक्षाकर्मियों के परिवारों के प्रति भी संवेदना का परिचय देते हुए,तत्काल उन्हें अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान करें।चूंकि दिवंगत शिक्षाकर्मियों के परिजनों को जीवन निर्वाह भत्ता नहीं मिलता,जिससे उनके सामने तमाम तरह की समस्या उत्पन्न हो गई है|

विज्ञापन

7 COMMENTS

  1. Usually I don’t learn post on blogs, but I wish to say that
    this write-up very compelled me to try and do it!
    Your writing style has been surprised me. Thank you, very great
    article.

  2. Ρretty component of content. I ϳust stumbled upon your blog and in accession capital to
    aѕsert that I acԛuire in fact enjoyed account your blog pⲟsts.

    Any way I’ll be suƅscrіbing to your feeds or even I suсcess
    you get aԁmission to constantly fast.

  3. Thanks for any other informative site. The place else could I am getting that kind of info written in such
    an ideal way? I have a project that I am just now running on, and I’ve been on the look out for such info.

Comments are closed.